“बेवकूफ वारिसों” से “नौकरों और जौकरों” तक

“अंग्रेजियत” से रंगे “देश और हिन्दुओ” विरोधी नेहरु से लेकर,
70 साल से आज तक :—-

वारिसों में सबसे पहले “गूंगी गुडिया” थोपी गई फिर,

अपने घर के “बेवकूफ वारिसों” से और “नौकरों और जौकरों”
के बूते देश की सत्ता पर काबिज रही — उसी पार्टी के लोग भी,

आज तिलमिलाकर “इस सरकार” पर सवाल खड़े करते है तो :—
बड़ा अजीब लगता है :—

1984 में देश में लागू “प्रजातन्त्र मौखोल” बनाते हुए।
प्रजातन्त्र की कमियों का फायदा उठाते हुए।

एक “देश” और “राजनीति” के बारे में क,ख भी नही जानने वाले को,
जिस आदमी ने –“प्रधानमन्त्री हाउस से दिल्ली एयरपोर्ट”– से अलावा कभी कुछ नही देखा था।
देश के दुसरे भागों की बात ही छोडिये,
उसको तो “दिल्ली” के “मोहल्लों” की जानकारी नही थी।
काफी लोगो को “दिल्ली हुई “आंत्रशोध” की बीमारी के समय की बाते याद होगी,

1– जिस आदमी को -“लालमिर्च और हरीमिर्च”- का फर्क मालुम नही था।

2– राजीव गांधी ने खुद कहा था हम केंद्र से एक रुपया जनता के लिये भेजते है, तो मात्र 15 पैसे ही जनता तक पहुँचते है।

85 पैसे उस का “गिरोह” बीच में ही खा जाता था।

इसलिए 85 पैसे के गबन का सिर्फ नाम तो लिया लेकिन कभी कुछ नही किया।

3– आज के हमारे –पूर्व “प्रधान मंत्री” –“मनमोहनसिंह”–को “राजीव गांधी” ने –“सावर्जनिक सभा”– में –“जौकर” — कह कर बुलाया था।

4– कश्मीर की एक सभा में जब “फारुख अब्दुल्ला” ने “राजीव गाँधी” को “हिन्दू” कहा तो –“राजीव गांधी”– ने तुरंत कहा –“मै हिन्दू नही हूँ”-।

ये “चारों” उसके –“सावर्जनिक बयान”– है।

फिर भी ऐसे व्यक्ति को भी इतने बड़े देश की “बागडोर” सौंप दी गई,

पिछले “दस साल: एक “बेजुबान,गूंगे,बहरे” और एक “गुलाम” को जिसने जिन्दगी में कभी नगर पालिका तक का कोई चुनाव नही लड़ा..उसे “आसाम” का “फर्जी” पता ठिकाना बता कर,सत्ता के पिछले दरवाजे {राज्य सभा से} से दाखिल कर के देश पर थोप दिया।

ये सब इसलिये हो पाया कि :—

पिछले 70 सालों में “ग्रामपंचायत” से लेकर “राष्ट्रपति भवन” तक एक “पार्टी” के नाम पर एक बहुत ही “संघठित गिरोह” काम कर रहा था।

भोलीभाली भारत की जनता जिसे एक राजनीतिक पार्टी — “कोंग्रेस” –मान कर चल रही है।

इस “गिरोह” को हमेशा देश के “नव निर्माण” के लिये “उचित व्यक्ति” को नही बल्कि अपने “गिरोह के सरदार” को चुनना होता था,

वो भी ऐसा व्यक्ति होना चाहिये जो अपने “विदेशी आकाओं” के इशारे पर काम करता रहे।

इन्ही के कुछ “पिछ्ल्लगु” और कुछ “अज्ञानी” और बाकी इस “गिरोह के सदस्य” आज इस सरकार की “कार्यशैली” पर सवाल खड़े करते देखे जा सकते है।

अब आप भी दागिये सवाल और मांगिये जवाब…

आज तक – ऐसा क्यों नही हुआ -?-
जो आज तक – कभी नही हुआ -?-

तो अब – ऐसा कैसे हो रहा है..

एक कोंग्रेसी सज्जन को…
ये “सरकार” काम नही सिर्फ “नाटक” कर रही है,

इस बात का –उस को — मेरी तरफ से जवाब :—

तो जनाब पहले कुछ बाते —

मेरे बारे में — जान लीजिये…

मै फेसबुकिया लड़का नही हूँ,
मेरी उम्र 60 साल है |
मेरा किसी भी पार्टी से कोई – सम्बन्ध – नही है,
मै किसी भी “संगठन” से जुड़ा हुआ भी नही हूँ,

मै किसी भी “व्यक्ति विशेष” का भक्त भी नही हूँ,

1–आप का कहना है – कोंग्रेस को देश की जनता ने बार बार हटाया,
लेकिन जो दूसरी सरकारे आई उन्होंने क्या सुधार किये…
:– लेकिन जनता ने किसी भी अन्य दल को संवैधानिक सुधार के काबिल,
बहुमत – नही दिया | शायद आप जानते ही होंगे,
किसी भी संवैधानिक सुधार के लिये,
दोनों सदनों में दो तिहाई बहुमत की जरूरी होती है…

*** फिर बिना बहुंमत के किसी भी दल की कोई भी सरकार क्या कर पाती-??

2– आज तक जो 70 साल से कोंग्रेस ने नही किया और दरकिनार किया और नजरअंदाज किया वो सब अब हो रहा है…
:– कोंग्रेस ने uno नाम के जिस शत्रु जो 50 साल से अपने ही घर में बिठा रखा था वो पूरी दुनिया में भारत के खिलाफ रिपोर्ट देते थे…
*** ये बात को तो आप भी मानिये —
*** इस सरकार ने – सारी सरकारी सुविधाये बंद करके –
उन्हें देश से बाहर भगाया |
3– कोंग्रेस के पालतू हरामखोरो के नाक में नकेल डाली…
जानिये क्या और कैसे ?–
जो आज तक किसी ने नही किया—
:– रेलवे के एक खण्ड का – “जनरल मैनेजर” जब टूर पर निकला था तो,,
जनरल मैनेजर अपनी १२ बोगी की स्पेशल ट्रेन
“जीएम स्पेशल” लेकर चलते थे साथ में २००
लोगो का स्टॉफ भी होता था ..और रेलवे स्टेशन पर
किसी “महाराजा” की तरह स्वागत होता था ..
ऐसा आज तक चल रहा था —
पूरी ट्रेन “पैसे दो पैसे” में चलती थी क्या –??
अब जनाब को :–दो सौ नही “दो आदमियों” का स्टाफ मिलेगा और आम आदमी के साथ सफर करना होगा ,,
*** कहिये किसी ने किया ऐसा आज तक –??–
4– जजों की नियुक्ति कैसे होती थी– ??–
जजों की नियुक्ति का एक स्पेशल तरीका था,
शायद आप को कोंग्रेसी नेता “सिंघवी” द्वारा “जज नियुक्त: करने का तरीका तो मालुम ही होगा,नही है तो – सीडी बाजार में उपलब्ध हो सकती है,
या सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जज श्रीमान मार्कण्डेय काटजू साहब के उजागर किये गये राज तो मालुम ही होंगे —
:— निजी तौर पर फायदे में फ़ैसला देने वाले जजों को मलाईदार
जगहों पर नौकरी के बाद भी — नियुक्ति दी जाती थी –??–बहुत सबूत पड़े है |
:– जजों की नियुक्ति की 70 साल पुरानी निति और परम्परा को जनहित और देश हित में बदला गया |
*** क्या आज तक किसी ने ऐसा किया –??–
5– मोटर व्हीकल एक्ट क्या था –??–
भयंकर से भयंकर मोटरयान दुर्घटना में – दोषी वाहन चालक और वाहन मालिक को सिर्फ मामूली रकम के मुचलके पर जमानत मिल जाया करती थी – सलमान खान और उस जैसे भी बहुत से – बड़े घरों के लोग ने गाड़ियां शराब पीकर चलाई और पिछले 70 सालों में बहुत से लोगो को मारा भी है — किसी के परिजन की मौत के दुःख का कोई भी व्यक्ति शब्दों में बयान नही कर सकता — लेकिन एक आदमी मरो या चार लोग — होता कुछ नही था — क्यों –??–
:– अब चंद ही दिनों में नया सुधरा हुआ “मोटर व्हीकल एक्ट” आने वाला है |
*** आज तक किसी ने कोई — इस तरह का सुधार किया –??–
6– सबसे बड़ी बात – जिस चीजों को “आज तक” दरकिनार किया गया,
हिन्दुओं के “धर्म ग्रन्थ” और “हिन्दू शब्द” का इस्तेमाल करना और हिन्दुओं पूजा पद्दति और हिन्दुओं के वस्त्र धारण करना और “हिंदी भाषा” बोलना |
आज तक तो सत्ताधारियों को हिन्दू आंतकवाद से खतरा ही नजर आता रहा है इस विषय पर बहुत लोगो के बयान सार्वजनिक तौर पर दिए हुए है — ऐसा क्यों –??–
आज तक हर नेता हिंदी भाषा से बचता आया है और कभी भी कोई भी हिंदी में नही बोला|
:– आज का सत्ताधीश कहता है – मै एक हिन्दू राष्ट्रवादी हूँ और हिन्दुओं का मान बढ़ाते हुए दुसरे राष्ट्र के अध्यक्ष को “धर्म ग्रन्थ” भेंट भी करता है और दुसरे देश में जाकर उन्हें “मातृभाषा हिंदी” में सम्बोधित भी करता है…
*** क्या ऐसा आज तक देखा या सुना –??–
7– 70 सालों में आज तक -तीनों सैनाओं के प्रमुखों से कभी किसी सत्ताधीश ने बात करना भी उचित नही समझा था | क्यों –??–
देश के भीतर और बाहर हमारे देश के शत्रुओं की कोई कमी थी क्या –??–
आज ये बात सार्वजनिक हो चुकी है कि– इतने बड़े और विशाल देश की विशाल फ़ौज के पास – गोला बारूद,, लडाकू जहाज और अन्य साजोसमान मात्र 20 दिन के युद्ध के लायक ही है,,
तो जनाब — भूगोल देखिये –छोटा सा जर्मनी और छोटा सा जापान — 5-5 साल लम्बा “विश्व युद्ध” वो लोग कैसे लड़े थे | आज छोटा सा — कोरिया और ईरान — अमेरिका जेसी विश्व शक्ति को कैसे ललकारते है –क्यों –??– और इजराइल के बारे में आप के क्या ख्याल है —
:– सैना के तीनों अंगो के प्रमुखों से — प्रधानमन्त्री की हर महीने एक निश्चित समय पर सीधी बैठक — सैनाओं का मनोबल बढ़ाया जा रहा है और हर साजोसामान की आपूर्ति को सुनिश्चित किया जा रहा है |
*** ऐसा भी — कभी आज तक – 70 साल में – किसी ने किया है –??–
8– आज तक — भारत की “आजादी” के किये अपने “प्राणों को न्योछावर” करने वाले “क्रांतिकारीयों” को भारत सरकार “शहीद” नही मानती थी और तो और हमारे “देशभक्तों” को “स्कूलों के पाठ्यक्रम” में “आंतकवादी” पढ़ाया जाता था — क्यों –??–
:— महान शहीद “भगत सिंह” के सिक्के इस सरकार के द्वारा जारी हो चुके है,
अभी अभी “नेताजी सुभाषचंद्र बोस” के सहयोगी से देश का प्रधानमन्त्री जापान में “स्पेशल तौर” से मिल के आया है — क्यों –??–
*** ऐसा आज तक किसी ने क्यों नही किया –??–
9– आज तक सारे सरकारी “उच्च अधिकारीयों” की “सरकारी मीटिंगे” “फाईफ स्टार” होटलों में हुआ करती थी जब की देश पर “विदेशी कर्जा” बहुत है और देश “गरीबी और भुखमरी” भी बहुत है –फिर ऐसा करने का क्या “ओचित्य” था –क्यों –??–
:— इस सरकार ने “उच्च अधिकारीयों” की सारी “हेकड़ी” बंद कर के आदेश दिया है कि — अब “सरकारी कार्य” की मीटिंग “सरकारी भवनों” में ही होगी -किसी भी होटल में नही..
*** ऐसा कभी किसी भी सरकार ने नही किया — क्यों –??–
10– कल ही की बात है — एक भूखेनंगे,,महा गरीब,,अप्रजातांत्रिक,,आंतकवाद और अराजकता से “त्रस्त देश” के लोग — हमारे प्रधानमन्त्री को “एक देहाती औरत” की संज्ञा दे रहे थे, क्यों –??–
:— आज पूरी दुनिया के “ठाकुर — या कहे — चौधरी” की छाती पर — आज तक नही हुआ ऐसा आयोजन और जनासमागम होगा — बराक ओसामा {ओबामा} सिर्फ औपचारिक भेंट नही — एक बार नही “स्पेशली” दो बार मिलेगा –क्यों –??–
*** ऐसा — आज तक 70 साल से हमारा “दुश्मन” रहे “अमेरिका” ये बर्ताव क्यों कर रहा है –??–
11– विदेश यात्रा में खर्च होने वाला सारा पैसा “हराम” का होता था क्या –??–
सौ सौ टीवी “पत्रकारों” की टोलियाँ – प्रधानमन्त्री के “विदेशी दौरों” में साथ चिपकी रहती थी– वो “महंगी शराब” और वो “फाईफ स्टार” महंगे “होटलों” में ठहरना वो “मज्जेदार और लज्जिज खाना” — वो “हवाई यात्रायें” — हवा में ही प्रधानमन्त्री के साथ “शराब और खाना” सब कुछ उपलब्ध रहता था — क्यों –??–
:— इस सरकार ने एक ही झटके में सभी “भांड मंडली” को बाहर का रास्ता दिखा दिया,
अब किसी भी “हरामखौर” की कोई जरूरत नही — और — अब हवाई जहाज में — ना शराब ना कबाब –वो सब चीजे उपलब्ध नही होगी — ऐसा “सरकारी आदेश” है —
*** आज तक –किसी ने ऐसा क्यों नही किया –क्यों ??–
12– खेत की जमीन का नाप – एकड़ – के हिसाब से होता है- क्या आप जानते है — जितने जितने “एकड़” में – दिल्ली में — पूर्व मंत्रियों,,पूर्व मुख्यमंत्रियों,,पूर्व राज्यपालों,, पूर्व प्रधानमंत्रियों और पूर्व राष्ट्रपतियों की कोठियां और बंगले बने हुए है–
उतनी जमीन — “आसाम और बिहार और पंजाब” के आम “गरीब किसान” के पास खेती करने लायक भी नही है–सब “माल हराम” का-“अपने बाप” का मान कर – सभी कब्जा किये बैठे है..
:— करीब 30 हरामखोरो के बिजली पानी के कनेक्शन परसों इस सरकार ने काट दिए..
अगर फिर भी कब्जे नही खाली किये तो जुत्ते मार के भी भगाए जायेंगे —
*** आज तक किसी भी सरकार ने ऐसा क्यों नही किया –??–
13— फ़ैक्ट्रियों से गंदा पानी सालों से गंगा माता में डाला जा रहा था..
:—-गंगा को प्रदूषित करने वाले 46 उद्योग बंद किये गए
वाराणसी, सितम्बर 17: पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि गंगा में गंदा पानी छोड़ने वाले 46 उद्योगों को बंद कर दिया गया है। जावड़ेकर ने कहा कि इसके अलावा 140 अन्य उद्योगों को नोटिस जारी किया गया है।
http://1nb.in/143278
*** ऐसा आज तक क्यों नही किया गया …
14— रेलवे के सटीक इंतजाम, अब चैन की नींद लें, नहीं छूटेगा आपका स्टेशन…
:—क्या कभी आपके साथ ऐसा भी हुआ कि आपकी आंख ना खुली हो और रेल गंतव्य स्टेशन से आगे निकल गई? http://goo.gl/i6GuBb
*** किसी के पास है जवाब –??–ऐसा आज तक क्यों नही किया गया …
15– अब “फर्स्ट क्लास” में नहीं कर सकेंगे “हवाई सफर” नौकरशाह…
:—अपने खर्चों में केंद्र सरकार ने कटौती करने की तैयारी की है।
इसकी शुरूआत नौकरशाहों के पर कतर के की जा रही है।
पूरी खबर पढ़ने के‌ लिए क्लिक करें—–>http://goo.gl/ilM2B0
**** देश की हालात के विपरीत ऐसा आज तक क्यों चलता रहा-??-
किसी ने इस – नाजायज खर्चे को रोका क्यों नही –??–
16—ट्रेन छूटने पर भी वापस मिल जाएगा पूरा किराया–
:—– रेल या‌त्रियों के लिए खुशखबरी है। यात्री अब कन्फर्म टिकटों का पूरा पैसा ट्रेन छूटने के दो घंटे बाद भी ले सकेंगे। पढ़िए, पूरी खबर——->http://goo.gl/zWL6Au
**** आज तक आधा किराया ही वापिस क्यों मिलता था –??–
ये सुधार आज तक किसी ने क्यों नही किया –??–
17—-9.11.2014 — एक ट्विट पर मदद —
अभी अभी मैंने ट्विट्टर पे देखा भाजपा उत्तर प्रदेश के हैंडल से एक ट्वीट आया कि भाजपा के एक कार्यकर्ता के पिता किसी ट्रेन से मुंबई जा रहे थे और उनकी ट्रेन में ही मृत्यु” हो गयी है और ट्रेन भुसावल पे है कोई “मदद” नहीं मिल रही ये अपील “सदानंद गोड़ा रेल मंत्री” को कि गयी थी कुछ ही…मिनट में “सदानद गौडा जी” कि ट्वीट आ गयी कि भुसावल के रेल “पोलिस इंस्पेक्टर महाजन” से संपर्क कर ले वो आपकी मदद करेंगे और उनका मोबाईल नो भी दिया
इसका मतलब है कि भुसावल स्टेशन पे रेल मंत्रालय से इस मामले में फोन जा चूका है
कभी कोई मनमोहन सरकार में कल्पना कर सकता था कि एक केन्द्रीय मंत्री को एक ट्वीट लिख के बात बताई जा सकती थी ?
***** क्या ऐसा हुआ आज तक कभी –??–
18—- एक फोन से — “श्री लंका” में “फांसी की सजा” पाये 2 मछुआरो की “सजा माफ़” — और उन्हें मिली नई जिन्दगी…. ताजा समाचारों के अनुसार 2 नही 5 भारतीय कैदियों को जीवन दान मिल गया…
:—- http://hindi.oneindia.com/…/sri-lanka-finally-agrees-to…
***** क्या आज तक ऐसा कभी हुआ है –??– और नही हुआ तो क्यों नही हुआ –??–
19— एक और नई खबर :— रेल राज्यमंत्री “मनोज सिन्हा” दिल्ली से अपने शहर गाजीपुर की यात्रा शाही ठाठबाट से रेलवे के “सैलून” में करते थे ..
जैसे ही नरेंद्र मोदी को ये बात पता चली उन्होंने रेलवे को पत्र लिखकर उसका “पूरा खर्च” मंत्री जी के “सेलरी” से वसूल करके का आदेश दिया …
हलांकि इसके पहले रेलमंत्री हमेशा सैलून लेकर ही चलते थे…
“लालू प्रसाद यादव” तो एक “स्पेशल ट्रेन” से चलते थे…
खबर साभार –आउटलुक
***** क्या आज तक ऐसा कभी हुआ है –??– और नही हुआ तो क्यों नही हुआ –??–
20—केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने दिल्ली की 895 अनधिकृत कालोनियों को अधिकृत करने के लिए दिल्ली सरकार से अगले हफ्ते तक प्रस्ताव मांगा है।
मोदी सरकार के इस फैसले से लाखों दिल्ली वासियों को राहत मिलेगी।

***** क्या आज तक ऐसा कभी हुआ है –??– और नही हुआ तो क्यों नही हुआ –??–

21—आज एक बात और जोड़ देता हूँ :—-
मोदी सरकार ऐसी व्यवस्था करना चाहती है जिससे कंपनियों का रजिस्ट्रेशन एक दिन में हो जाए और इसके अलावा व्यापारियों को अन्य सहूलत प्रदान की जाए जिससे व्यापार करना आसान हो जाए। पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें….
http://navbharattimes.indiatimes.com/…/article…/45645850.cms
*****—– किसी भी हरामी की औलाद ने — कभी कोई काम सरल नही किया सिर्फ उलझने ही पैदा की –जिन लोगो ने अपनी कपंनीयों का रजिष्ट्रेशन करवाया है वो लोग जानते है कितनी बाधाये कोंग्रेस शासन ने खड़ी कर रखी थी..

आखिर तंग होकर अफसरों को खुश करना ही पड़ता था — ऐसा क्यों था –??–

22— आज फिर एक बात और जोड़ देता हूँ :—-
1 जनवरी 2015 से फार्मा कंपनियों की तरफ से डॉक्टरों को गिफ्ट के तौर पर “मेडिकल सैंपल, पर्सनल गिफ्ट, फ्री हॉलीडे प्लान” आदि नहीं दिए जा सकेंगे।
सरकार से अनुसार यह “कंपनियों का प्रोडक्ट प्रमोशन” करने का गलत तरीका है, जिसे 1 जनवरी से बैन किया जा रहा है।
***** आज तक सिर्फ भ्रष्टाचार को ही बढ़ावा क्यों दिया गया—कभी इसे “कम करने और रोकने” की कोई कोशिश क्यों नही हुई–??–
23— वाड्रा से 400 बीघा जमीन वापस छीनी सरकार ने..
रॉबर्ट वाड्रा से 400 बीघा जमीन वापस छीन ली गई है। अब क्या करेंगे वाड्रा? जानिए क्या था 400 बीघा जमीन का विवाद?
पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें——> http://goo.gl/3fiKNC

***** किसी के ह्क्ल में हाथ डाल कर कुछ निकालना ये पहली बार ही हुआ है —
24 — मुंबई में 3 माह के अंदर चलेंगी वाटर बसें… on January 2, 2015 3:36

http://hindi.news24online.com/मुंबई-में-3-माह-के-अंदर-चलें/
25 — बहिन की शादी के लिये भी भेजे पत्र पर सुनवाई
http://abpnews.abplive.in/ind/2015/01/04/article468140.ece/letter-to-pm-for-dowry

26 — बिजली बचत के लिये L.A.D

Launched scheme for LED bulb distribution for Delhi & a National Programme for LED-based Home & Street Lighting
.http://nm4.in/1AoIh6R

27 — बेअंत सिंह का हत्यारा थाईलैंड में गिरफ्तार।
आप को हत्यारा याद तो होगा –??–

http://www.outlookindia.com/…/Beant-Singh-Assassin-A…/875883

इति — गिरधारी भार्गव –15.9.2014

Advertisements