ऐसे बचें एलर्जी से-

सर्दियों में आम तौर पर लोगों में एलर्जी के मामले कुछ ज्यादा ही सामने आते हैं। एलर्जी वातावरण में मौजूद तत्वों व पदार्थो के द्वारा शरीर के रोग प्रतिरोधक तंत्र की प्रतिक्त्रिया से पैदा होने वाला रोग है, जिसे नियंत्रित कर सकते हैं

1.___ मौजूदा मौसम में एलर्जी, नाक व साइनस और फेफड़ों को कहीं ज्यादा प्रभावित करती है। इसलिए जहा तक संभव हो, ठंड से बचने के लिए पर्याप्त ऊनी कपड़े पहनें। ऊनी वस्त्र पहनकर ही कमरे या घर से बाहर निकलें।

2.___ एलर्जी में लगातार छींकें आना, नाक में खुजली होना और पानी आना, नाक बंद रहना, सिरदर्द, खासी आना या सास का फूलना आदि लक्षण प्रकट हो सकते हैं।

3.___ एलर्जी से संबंधित तमाम मामलों का कारण धूल, प्रदूषण और विभिन्न पौधों के फूलों से उत्पन्न पराग कण हैं। वातावरण में मौजूद फंगल व महक वाले पदार्थो जैसे कास्मेटिक्स, पेंट्स, और परफ्यूम्स आदि भी अनेक लोगों में एलर्जी का कारण बन सकते हैं।

4.____ एलर्जी की जानकारी के लिये इनविट्रो टेस्ट कराया जाता है।

5.___ एलर्जी से पीड़ित व्यक्ति इस बात का निरीक्षण करें कि उन्हें जिन वस्तुओं से एलर्जी हो, उनसे बचाव करना चाहिए। एलर्जी के इलाज में दवाओं के अलावा नाक में डालने वाले स्प्रे का भी इस्तेमाल किया जाता है!

Advertisements