भारत की सेना की ताकत का लोहा तो दुनियाभर मानती है। देश की सुरक्षा में कई आधुनिक हथियार सेना की शक्ति को और भी बढ़ा रहे हैं। इस शक्ति को और भी बढ़ाने के लिए वायु सेना में जल्द ही एक नई मिसाइल को शामिल किया जाएगा। यह मिसाइल वायु सेना की शक्ति में इजाफा कर देश की सुरक्षा को और मजबूत बनाने का काम करेगी। हवा से हवा में सटीक वार करने वाली अस्त्र मिसाइल में कई ऐसी खूबियां हैं जो किसी अन्य मिसाइल में नहीं हैं। वायु सेना के अधिकारियों के अनुसार इस मिसाइल को बनाने की प्रक्रिया बेहद ही लंबी थी। इसके सभी परीक्षण वर्ष के अंत तक पूरे कर लिए जाएंगे। इस मिसाइल को राजस्थान के पोखरण में सुखोई 30 एमकेआई से छोड़ा जाएगा।

अपने सीमाओं की सुरक्षा और सेना को ताकतवर बनाने की दिशा में भारत कुछ फ्यूचर मिसाइल्स पर काम कर रहा है तो आइए जानते हैं अगली स्लाइड्स में इन भविष्य के मिसाइलों के बारे में..

1.मैत्री मिसाइल 

Source
Source

मैत्री मिसाइल प्रोग्राम पर दो संस्थाएं भारत की डीआरडीओ और फ्रांस की एमबीडीए संयुक्त रूप से काम कर रही है। जमीन से हवा में मार करने यह मिसाइल अपने लक्ष्य को सौ फीसदी खत्म कर देती है। यह फ्रांस की माइका और भारत की त्रिशूल मिसाइल के तकनीक को मिलाकर बनाया जा रहा है जिसकी मारक क्षमता 15 किमी तक होगी। इसके 2018 तक तैयार हो जाने की संभावना है।

2-सैम मिसाइल

Source
Source

भारतीय नौसेना के लिए डीआडीओ कम दूरी की मारक क्षमता वाली सैम मिसाइल पर काम कर रहा है जिसकी रेंज 25-30 किमी होगी। इस मिसाइल को नौसेना के जहाजों से दागा जा सकता है जो अपने लक्ष्य को पलक झपकते ही खत्म कर सकती है।

 

3-ब्रम्होस मिसाइल

Source
Source

भारत ब्रम्होस मिसाइल के अगले संस्करण पर काम कर रहा है। इस हाइपर सोनिक मिसाइल की स्पीड 6 मैक के बराबर होगी। फिलहाल भारत के पास जो सुपर सोनिक ब्रह्मोस मिसाइल है उसकी स्पीड 1 मैक है। ब्रह्मोह 2 दुश्मन के परमाणु बंकरों और जैविक हथियारों के भण्डार को नष्ट करने में सक्षम होगा।

 

4-ए-सैट मिसाइल

Source
Source

भारत ए-सैट मिसाइल के निर्माण पर भी काम करेगा जो अंतरिक्ष में दुश्मन के सैटेलाइटों का खत्म करने में सक्षम होगा। अग्नि v की सफलता के बाद भारतीय वैज्ञानिकों को भरोसा है कि वह ऐसी मिसाइल का निर्माण कर सकेंगे। हालांकि, चीन इस मामले में भारत से आगे है। उसने 2007 में ही ऐसी मिसाइल बना ली थी।

 

5-एंटी रेडिएशन मिसाइल

Source
Source

भारत एंटी रेडिएशन मिसाइल (एआरएम) पर काम कर रहा है जो दुश्मन के एडवांस वार्निंग सिस्टम को खत्म करने में सक्षम होगा। इस मिसाइल को एडवांस फाइटर प्लेन सुखोई एमकेआई-30 में आसानी से लगाया जा सकता है।

 

6-निर्भय मिसाइल

Source
Source

निर्भय मिसाइल सबसोनिक क्रूज मिसाइल है जो ‘फायर एंड फॉरगेट टेक्नोलॉजी’ पर काम करता है जिसका मतलब है एक बार फायर करने के बाद भूल जाइए। इसका मतलब यह हुआ की यह अपने लक्ष्य को भेदकर ही मानेगा। इसका अंतिम परीक्षण चल रहा है जो 2016 तक पूरा हो जाएगा।

 

7-अग्नि VI

Source
Source

डीआरडीओ अंतरमहाद्विपीय बैलेस्टिक मिसाइल अग्नि VI पर काम कर रहा है जिसकी मारक क्षमता 8,000 से 10,000 किमी होगी। यह अपने पिछले संस्करणों से काफी उन्नत मिसाइल होगा। परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम इस मिसाइल की 2018 तक तैयार होने की संभावना है।

 

8- के-5 मिसाइल

Source
Source

डीआरडीओ भारतीय नौसेना की ताकत बढ़ाने के लिए के-5 मिसाइलों के निर्माण पर काम कर रहा है। इसे पनडुब्बियों पर तैनात किया जाएगा जिसमें ठोस ईंधन का प्रयोग होगा। यह अपने साथ एक टन हथियार ले जाने में सक्षम है और इसकी मारक क्षमता 6,000 किमी होगी। इसे भारतीय पनडुब्बियों पर तैनात किया जाएगा।

 

9-सुपरसोनिक मिसाइल

Source
Source

डीआरडीओ और इसरो संयुक्त रूप से लम्बी दूरी के हवा से हवा में मार करने वाले सुपरसोनिक मिसाइल एयरक्राफ्ट प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। इस एयरक्राफ्ट में हाइड्रोजन ईंधन का प्रयोग किया जाएगा जो ध्वनि की रफ्तार से 25 गुना तेजी से उड़ने में सक्षम होगा।

Advertisements